Breaking News
प्रधानमंत्री मोदी

मुझे नहीं पता कोरोना वैक्सीन कब आएगी, ना हम तय कर सकते: प्रधानमंत्री मोदी

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार सतर्क हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कोरोना वायरस (कोविड-19) की वर्तमान स्थिति की समीक्षा और वैक्सीन की रणनीति को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ एक वर्चुअल बैठक की। बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे।
बैठक के बाद पीएम मोदी ने कहा, देश में जहां तक वैक्सीन के डिस्ट्रीब्यूशन की बात है उसकी तैयारी भी आप सभी राज्यों के साथ मिलकर की जाएगी। वैक्सीन प्राथमिकता के आधार पर किसे लगाई जाएगी ये राज्यों के साथ मिलकर डिसाइड होगा। राज्यों को इस पर काम करना शुरू कर देना चाहिए। इसकी अतिरिक्त सप्लाई पर भी काम किया जाएगा। पीएम ने कहा, भारत बेहतर वैक्सीन पर ही जोर देगा और हर वैक्सीन को वैज्ञानिक तौर पर परखा जाएगा। लेकिन वैक्सीन के साथ ही पीएम मोदी ने फिर याद दिलाया, हर किसी को अभी भी सतर्कता बरतनी होगी।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में चेताते हुए कहा, राज्यों को सतर्कता बरतनी होगी, वरना कहीं ऐसी स्थिति पैदा ना हो जाए कि कहना पड़े मेरी कश्ती भी डूबी वहां, जहां पानी कम था। पीएम मोदी ने कहा, हमारे पास अब पर्याप्त आंकड़ा है, ऐसे में तैयारी पूरी करनी होगी। शुरुआत में कोरोना के प्रति लोगों में खौफ था, तब लोग डर में आत्महत्या भी कर रहे थे। उसके बाद लोगों में एकदूसरे के प्रति संदेह हो रहा था। पीएम ने कहा, अब लोग कोरोना को लेकर गंभीर होने लगे हैं, लेकिन कुछ हदतक लोगों को लगने लगा है कि ये वायरस कमजोर हो गया है। पीएम ने कहा, हमें पॉजिटिविटी रेट को पांच फीसदी से कम पर ही रखना होगा, राज्य से आगे बढ़कर अब लोकल पर फोकस करना होगा। साथ ही टेस्टिंग में RT-PCR टेस्ट की संख्या बढ़नी चाहिए, साथ ही घर में जो मरीज हैं उनका ध्यान रखना होगा। साथ ही मौत के आंकड़े को एक फीसदी से नीचे ही रखना होगा।
पीएम मोदी ने कहा, दुनिया में वैक्सीन को लेकर जहां भी अपडेट हो रहा है, उसपर भारत सरकार नजर रखे हुए है। अभी ये तय नहीं है कि वैक्सीन की कितनी डोज होंगी, कीमत कितनी होंगी। वैक्सीन पर दुनिया के साथ भारतीय डेवलेपर्स के साथ हमारी टीम काम कर रही है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत हर वैज्ञानिक तकनीक पर खरा उतरने के बाद ही वैक्सीन का इस्तेमाल करेगा। किसे पहले वैक्सीन दी जाएगी, ये राज्यों के साथ बात करने पर ही तय होगा लेकिन राज्यों को कोल्ड स्टोरेज पर काम शुरू करना होगा। पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया की कई वैक्सीन भारत में ही बन रही हैं, लेकिन कौन-सी वैक्सीन इस्तेमाल की जाएगी ये अभी से ही तय नहीं है। पीएम मोदी ने राज्यों से अपील की है कि जल्द ही वे लिखित में अपने सुझाव भेज दें।
मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैक्सीन को लेकर बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा, वैक्सीन कब आएगी, इसका समय हम तय नहीं कर सकते। ये वैज्ञानिकों के हाथ में है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ लोग वैक्सीन पर राजनीति कर रहे हैं। किसी को राजनीति करने से नहीं रोका जा सकता है।

About admin

Check Also

ट्रैक्टर-रैली

गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर रैली का हम आदेश नहीं देंगे: सुप्रीम कोर्ट

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों द्वारा 26 …