Breaking News
connect-asia

विदेश में नौकरी देने के नाम पर फ़र्ज़ी कंपनी कनेक्ट एशिया ने किया हज़ारो के पासपोर्ट गायब, करोड़ो लुटे

लखनऊ में कंनेक्ट एशिया नाम की एक जालसाज़ कंपनी ने विदेश भेजने के नाम पर हज़ारों को चुना लगा दिया है।  यहाँ तक कि आवेदकों का पासपोर्ट भी जब्त कर लिया है। विदेश जाने वाले आवेदक परेशान इधर उधर चक्कर लगा रहे हैं। कथित कंपनी के मालिक ऑफिस से गायब है। ऑफिस के कर्मचारी टाल मटोल कर रहे है। राजधानी लखनऊ स्थित एक ऐसी फ़र्ज़ी कंपनी ने मज़दूरों से करोड़ों लूटने का काम किया है जिसके पास ना तो कोई रजिस्ट्रेशन है ना ही कोई लाइसेंस। विदेश भेजने के नाम पर इश्तेहार निकाल कर लोगों को पहले दिग्भ्रमित करती है कथित ट्रेवल कंपनी कनेक्ट एशिया, फिर हज़ारों की संख्या में अपने नवनिर्मित वेबसाइट और फेसबुक पेजके जरिये बायोडाटा (रिज्यूम) मंगाती है। फिर शुरू होता है लूटने का असली खेल।

सुनिए क्या कह रहे हैं पीड़ित :

Connect AsiaConnect Asia

बंद हो गई है जीएसटी फर्म:
कामगरों को दिए गए रसीद पर छपे हुए नंबर के जगह जीएसटी नंबर डाल दिया है। जिस जीएसटी नंबर को रजिस्ट्रेशन की जगह उपयोग कर रहे हैं उस जीएसटी को भी जीएसटी ऑफिस ने कैंसिल कर दिया है।  उसका रजिस्ट्रेशन भी दिसम्बर में समाप्त कर दिया है। जीएसटी स्टेटस CANCELLED SUO-MOTO दिखाई दे रहा है। यानी स्वतः संज्ञान लेकर जीएसटी विभाग ने इस रजिस्ट्रेशन को कैंसल कर दिया था।  कैंसिलेशन की तारीख 14 DECEMBER 2020 बताया गया है।

Connect-Asia

 

फ़ोन पर करवाते हैं इंटरव्यू:
एक ऐसा ऑफिस जो महज पिछले साल फरवरी से लखनऊ में अपना ऑफिस महज 2-3 लोगों के साथ शुरू करते हैं।  फिर लॉकडाउन में उनका बिजनस मंदा पड़ जाता है। लॉकडाउन के बाद आपदा को अवसर नमें बदल दिया इन चंद लोगों के गिरोह ने।  अपने फेसबुक पेज और विदेश जाने वाली कई साइट के साथ साथ व्हाट्सप्प पर ग्रुप बनाकर विदेश में वैकेंसी का लिस्ट डालकर मेडिकल, वीजा और टिकट का लगभग 50-50 हज़ार रुपये लोगों से ऐठ लिया। यही नहीं, पैसे लेने के लिए जालसाज कंपनी ने सबसे पहले लोगों का इंटरव्यू फोन पर ही करवा लिया।

Connect Asia Connect Asia

व्हाट्सप्प पर भेजते हैं ऑफर लेटर, वीजा:
मेडिकल के बाद तुर्की, अंगोला सहित कई खाड़ी देशों के ऑफर लेटर वर्करों को व्हाट्सअप से ही भेज दिया। व्हाट्सप्प पर ऑफर लेटर भेजने के बाद कामगारों को कॉल करके वीजा के लिए 45-45 हज़ार रुपये की मांग किये और पैसा लेने के बाद लोगों को टूरिस्ट वीजा का आवेदन या टूरिस्ट वीजा बनवाकर भेज दिया। इस दौरान आवदेकों का पासपोर्ट भी कंपनी ने ले लिया, और बोला गया कि आपको अपनी पासपोर्ट कोरियर से घर पर मिल जाएगा। कुछ अभ्यर्थियों ने इसका विरोध किया कि टूरिस्ट वीजा एक महीने का ही होता है तो जालसाज कंपनी ने ये कहकर लोगों को शांत कर दिया कि वहां जाने के बाद कंपनी आपको परमानेंट वीजा दे देगी।

Connect AsiaConnect Asia

 

फ़र्ज़ी इंटरव्यू, फ़र्ज़ी मेडिकल और फिर फ़र्ज़ी वीजा देकर करोड़ो डकार गई कनेक्ट एशिया नाम की फ़र्ज़ी कंपनी

देतें हैं टूरिस्ट वीजा:
एक महीन बीत गया और टूरिस्ट वीजा की वैलिडिटी भी समाप्त हो गई तो लोगों को अंदेशा होना शुरू हो गया कि कहीं उनके साथ जालसाज़ी तो नहीं हो गया। उसके बाद जब कंपनी से मज़दूरों ने बात किया कि हमारी फ्लाइट कब होगी तो कंपनी टाल-मटोल करके अलग अलग वक्त देने लगी।  लोगों को सब समझ में आने लगा की ठगे जा चुके हैं।
ज्यादातर बिहार से आये लोगों ने लखनऊ स्थित कनेक्ट एशिया कंपनी जा धमके।  कंपनी में एम्प्लॉई के अलावा कोई नहीं मिला।  कंपनी लोगों को आस्वस्त किया कि जो वीजा एक्सपायर हो गए हैं उनको हम दोबारा बनवा कर देंगे लेकिन तबतक लोगों को इस बात का एहसास हो गया था कि वो लूट चुके हैं।

Connect Asia

 

कनेक्ट एशिया नाम की कोई कम्पनी नहीं हैं:
जिस कनेक्ट एशिया के द्वारा विदेश भेजने के नाम पर जालसाजी की जा रही है उस नाम की कंपनी का कोई रेजिस्ट्रेशन नहीं मिला है। विदेश भेजने के लिए 1000 प्लस और 100 प्लस जैंसे लाइसेंस की जरूरत पड़ती है। कंपनी के पास ऐसी कोई भी लाइसेंस उपलब्ध नहीं है। कंपनी के नाम पर महज एक ऐसा एकाउंट है जो जीएसटी रजिस्ट्रेशन करवाकर उसी नाम से खोलवाया गया है।  जिससे लोगों को शक न हो। एक अभ्यर्थी गुलाम गॉस अली ने बताया कि दिया गया जीएसटी नंबर जून 2020 में ही बन हो गई है। उसने इसका जांच भी करवाया था ताकि उसके शक की पुष्टि की जा सके।

Connect Asia

तुर्की का नया वेबसाइट बनाकर दे दिया ऑफर लेटर:
जिस ALBATROSSES का ऑफर लेटर कनेक्ट एशिया विदेश जाने वालों को दे रही है वो महज 3 महीने पुरानी एक वेबसाइट है। वेबसाइट पर कैरियर को लेकर फोकस किया गया है ताकि लोगों की नज़रें इसपर पड़े। आमतौर पर कोई भी कंपनी अपने कार्य, प्रोडक्ट और कार्यप्रणाली पर फोकस करती है। कंपनी और ऑफर लेटर में दिए गए ईमेल पर दृष्टांत ने ऑफर लेटर और वीजा को लेकर मेल किया लेकिन उधर से अभी तक कोई जवाब नहीं दिया गया।

Connect Asia

पर्यटन की वेबसाइट बनाकर दे रहा नौकरी का झांसा:
Connect Asia कंपनी पर पुलिस या जांच एजेंसी की नज़र ना जाए इसलिए टूरिस्ट वेबसाइट बनवा लिया है। उसी वेबसाइट के आड़ में विदेश भेजकर नौकरी देने की जालसाज़ी बड़ी आसानी से कर रही है। कनेक्ट एशिया वेबसाइट का भी रजिस्ट्रेशन नया है। पिछले साल 2020 के फ़रवरी में इसका रजिस्ट्रेशन किया गया है।

Connect Asia Connect Asia

पहले भी दर्ज़ हुए थे मुकदमे:
कनेक्ट एशिया के खिलाफ पहले भी शिकायत दर्ज़ किया जा चूका है। लखनऊ के विभूतिखंड थाने में इसके पहले भी मुकदमा लिखने के लिए कुछ लोगों ने एप्लिकेशन दिया था लेकिन जालसाज मालिक ने मामले को दबवा दिया। अगर लखनऊ पुलिस वक्त पर मामले में कार्रवाई किया होता तो इतनी बड़ी घटना को रोका जा सकता है।

जारी है……

ये भी देखें

About admin

Check Also

up-fir-minister

उत्तर प्रदेश: मंडलायुक्त कार्रवाई लिखते हैं और यूपी के मंत्री FIR वापस करवाने का लेटर

ये मामला योगी के उत्तर प्रदेश का है। जहाँ एक मंत्री जी कथित भ्रष्टाचारी पूर्व …