Breaking News
Pilibhit-Truck-Driver-bhagwan-das-Fake-Encounter-Case

Viral Audio: आपके बाद मेरा क्या होगा पापा ? तुम सब जहर खा कर मर जाना

Pilibhit Fake Encounter: पुलिस ने भगवान दास की हत्या क्यों की? हत्यारी पुलिस ने एक और निरपराध को मौत के घाट उतार दिया..  इसी के साथ पुलिस निरंकुशता की एक और कहानी इतिहास में दर्ज हो गयी.. अपनी हत्या से पूर्व एक पिता का अपनी बेटी से दिल दहला देने वाला वार्तालाप आपको अन्दर तक झकझोर कर रख देगा। खाकी की निरंकुशता से जुड़ा मामला कुछ इस तरह से है.. 15 सितम्बर वाले दिन ट्रक ड्राइवर (Truck Driver) भगवान दास (Bhagwan Das) अपनी बेटी से फोन पर कहता है, बेटी मैं पुलिस कस्टडी में हूं। पुलिस आपस में बात कर रही है कि वह मेरा एनकाउण्टर कर देगी.. दूसरी तरफ से भगवान दास की छोटी बेटी की करूण क्रन्दन करते हुए आवाज आती है… पापा अब हम कैसे जिएंगे, अब हमें कौन पालेगा….?

भगवान दास ने रोते हुए जवाब दिया कि बेटी अब तुम्हारा इस दुनिया में कोई नहीं है, तुम सब जहर खा कर आत्महत्या कर लेना। बेटी ने पिता से पूछा, पापा आपकी डेड बाॅडी कैसे मिलेगी? पिता ने जवाब दिया, यदि पुलिस अच्छी होगी तो डेड बाॅडी तुम्हे सौंप देगी।

ये ह्दय विदारक वार्तालाप एक ड्राइवर (Truck Driver) का अपनी नाबालिग बेटी से फोन पर चल रहा था। पूरा परिवार इस वार्तालाप के बाद ईश्वर से यही प्रार्थना कर रहा था कि किसी तरह से वह भगवान दास को बचा ले.. लेकिन खाकी वाले हत्यारे कुछ और ही मन बना बैठे थे…. अगले ही दिन पुलिस ट्रक डाइवर के परिवार वालों को सूचना देती है कि भगवान दास की दुर्घटना में मृत्यु हो गयी जबकि सच यह है कि उड़ीसा पुलिस ने निरपराध ट्रक ड्राइवर भगवान दास की हत्या कर दी थी।

भगवान दास पर इससे पूर्व किसी प्रकार के झगडे़ से सम्बन्धित मामला तक दर्ज नहीं था। आपको बता दें.. पीलीभीत (Pilibhit) के भगवानदास (Bhagwan Das) ट्रक चलाकर परिवार का गुजारा करते थे। बीते 11 सितंबर को गांव के ही राकेश, रंजीत व पड़ोस के गांव सिसैया निवासी गुड्डू के साथ झारखंड गए थे। झारखंड में जिला हजारी बाग में बरी नामक स्थान पर यह कहकर साथियों से अलग हो गए कि उन्हें उड़ीसा जाकर वहां एक ट्रांसपोर्ट कंपनी का ट्रक चलाना है।

मृतक ट्रक चालक की बड़ी बेटी कविता का कहना है कि विगत 15 सितंबर को मोबाइल पर उसके पिता ने फोन किया। तब वह बेहद घबराए हुए लग रहे थे। उड़ीसा पुलिस ने निरपराध ट्रक चालक की हत्या क्यों की? ये एक ऐसा सवाल है जिसका जवाब पूरा देश जानना चाहता है। इस लोमहर्षक घटना पर देश की जनता यही मांग कर रही है कि उड़ीसा के उन दरिन्दे पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर फांसी पर लटका दिया जाना चाहिए।

अन्य ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

About admin

Check Also

पाकिस्तान

पाकिस्तान में ईसाई ट्रांसजेंडरों को मिला ‘फर्स्ट चर्च ऑफ यूनक’ नाम का पहला गिरजाघर

पाकिस्तान में ईसाई ट्रांसजेंडर लोगों को अक्सर सामाजिक बहिष्कार, उपहास और अपमान का सामना करना …

Leave a Reply

Your email address will not be published.