Breaking News
aimim

प्रयागराज में वक़्फ की संपत्ति पर कब्जा, AIMIM ने किया विरोध

प्रयागराज *ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन AIMIM* प्रयागराज का एक प्रतिनिधिमंडल पूर्व जिला अध्यक्ष चौधरी इब्राहिम  नसीम  के नेतृत्व में वक्फ की संपत्ति पर अवैध रूप से कब्जा को लेकर थाना अध्यक्ष करेली को लिखित ज्ञापन दिया करेली सी ब्लॉक स्थित वक्फ बोर्ड संपत्ति संख्या 318 9 की भूमि पर सैयद पीर बाबा की मजार स्थित है जो कि करेली के बीचो बीच है जिसमें मजार की भूमि से लगा हुआ मकान नंबर 672 सैयद  मोनिस इस्लाम अवैध तरीके से वक्फ की भूमि पर अवैध तरीके से कब्जा करने का प्रयास कर रहा है अवैध तरीके से दरवाजा एवं खिड़की खोल रखी है और वक्फ बोर्ड की संपत्ति पर लगा दरवाजा मैं अपना ताला मार दिया है यह सारा अवैध निर्माण  लॉकडाउन के समय में  उपरोक्त ने किया था जिससे बाबा के दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालु अंदर प्रवेश नहीं कर पा रहे हैं उपरोक्त की दबंगई से श्रद्धालुओं में काफी रोष है मामला संज्ञान में आने के बाद जिसकी शिकायत दीवान अखलाक अहमद खान मजार मुतवली के साथ मिलकर थाना  करेली मैं दिनांक 7-12- 2020 को की गई थी जिसमें थाने से एक दरोगा और सिपाही ने मौके का मुआयना किया और अवैध कब्जा पाया जिस पर शाम को चाबी  लेकर उपयुक्त को बुलाया गया उपयुक्त की चाबी लेकर तो नहीं आया साथ में ही लगभग 10-12 लोगों को साथ लाया और पुलिस के सामने ही गाली गलौज और धमकी देने लगा जिसके बाद पुलिस ने मामले को शांत कराया और 9-12- 2020 को दोनों पक्ष को बुलाया गया जिसमें अवैध तरीके से कब्जा किए हुए लोग नहीं आए आज पुनः थाना अध्यक्ष करेली को लिखित शिकायत दी गई जिस पर उन्होंने साफ सफाई करवाने के लिए मुतवलली को इजाजत दे दी  जैसे ही मुतवाली लेबर के साथ  मजार के पास पहुंचे दूसरा पक्ष जिन्होंने मजार पर कब्जा कर रखा है वह लोग लड़ाई झगड़े की नियत से आ धमके इतने में थाना करेली की फोर्स इंस्पेक्टर बृजेश सिंह के आकर वक्फ बोर्ड मामले की जांच करा कर व मजार की यथास्थिति  बनाए रखने की हिदायत देकर दोनों पक्षों को चले जाने की  बात कहीआपने इसमें जो लिखा है मुतवली और आसपास के तमाम ऐसे लोग जो मजार में आस्था रखते हैं सब के सहयोग से मजार में प्रवेश किया गया और दरवाजा खुलते ही जायरीन एवं श्रद्धालुओं के चेहरे खिल उठे साफ सफाई एवं गंदगी हटाई जा रही थी की दूसरे पक्ष के लोग बड़ी संख्या में लोगों को लेकर वहां पर गाली गलौज और धमकी देने लगे हैं जिस पर पहले से मौजूद दो पुलिस कांस्टेबल ने मौके की नजाकत को समझते हुए तुरंत उच्च पदाधिकारी को सूचित किया और बड़ी संख्या में फोर्स पहुंची और मौके पर पहुंचकर पुलिस ने दोनों पक्षों को शांत करा कर थाने पर डाक्यूमेंट्स लेकर दोनों पक्षों को आने को कहा माननीय वक़्फ मंत्री का क्लियर बयान है कि वक्फ  की संपत्ति पर कब्जा मुक्त कराया जाए और जो लोग कब्जा किए हुए हैं उन पर एफ आई आर दर्ज की जाए उसके बाद भी पुलिस का नकारात्मक रवैया दुखद है और माननीय मंत्री के आदेश की अवहेलना भी है दीवान अखलाक अहमद खान जिन्हें वक्फ बोर्ड ने मुतवली बनाया है जो वहां की देखरेख करते हैं साफ-सफाई रखते हैं उनके पास पूरे लीगल दस्तावेज हैं उसके बावजूद मुतावली परेशान है यह दुख और अफसोस की बात है प्रतिनिधिमंडल में मुख्य रूप से अफसर महमूद मोहम्मद शफीक इफ्तेखार अहमद मंदर दीवाना अखलाक अहमद खान मुजीब रहमान एडवोकेट उजैर किबरिया गुलजार अहमद इसरार अहमद जीशान चौधरी आदि लोग उपस्थित थे

About admin

Check Also

up-fir-minister

उत्तर प्रदेश: मंडलायुक्त कार्रवाई लिखते हैं और यूपी के मंत्री FIR वापस करवाने का लेटर

ये मामला योगी के उत्तर प्रदेश का है। जहाँ एक मंत्री जी कथित भ्रष्टाचारी पूर्व …